England cricket board to cut 62 jobs due to Covid-19 pandemic (pic source: Eoin Morgan instagram)

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने एक बड़ा और हैरान करने वाला कदम उठाया है. ईसीबी ने एक झटके में 60 से ज्यादा लोगों को बेरोजगार करने का फैसला किया है. बोर्ड कोरोना वायरस महामारी की वजह से अपने यहां 20 फीसदी कर्मचारी कम करने का फैसला कर चुका है. इस तरह इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड से जुड़े 62 लोगों की नौकरी जाएगी. बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरीसन ने इस बात की जानकारी दी.

आर्थिक संकट के कारण ECB ने उठाया कदम

टॉप हैरीसन ने ईसीबी की वेबसाइट पर जारी किए गए बयान में कहा है कि यह कदम कोविड-19 महामारी के कारण आए आर्थिक संकट के कारण उठाया जा रहा है. हैरीसन ने अपने बयान में कहा है, “हाल के सप्ताह में हमने ईसीबी के ढांचे और बजट की समीक्षा की है, ताकि लागत को हमारे उद्देश्यों की पूर्ती के लिए कम किया जा सके. इससे जरूरी बचत की जा सकेगी. इससे ईसीबी का हर हिस्सा प्रभावित होगा और यह बचत तभी संभव है जब हम कुछ कटौती करें.”

ECB को हो सकता है 19 अरब रुपए का नुकसान

ईसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन ने बजट की व्यापक समीक्षा करने के बाद कहा कि अगर महामारी का प्रकोप अगले साल भी जारी रहा तो यह राशि 20 करोड़ पाउंड (लगभग 19 अरब रूपये) तब बढ़ सकती है. हालांकि  हैरीसन ने कहा कि ईसीबी उन लोगों की मदद करने के लिए तैयार है जो इस प्रस्ताव से प्रभावित होंगे. उन्होंने कहा, “आने वाले दिनों में इस प्रस्ताव से प्रभावित होने वाले हमारे साथियों की हम मदद करेंगे.”

इंग्लैंड कोरोना काल में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट शुरू करने वाला पहला देश

मौजूदा चुनौतियों के बाद भी इंग्लैंड इस महामारी के दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट फिर शुरू करने वाले पहला देश बना. उसने वेस्टइंडीज, आयरलैंड, पाकिस्तान और अब ऑस्ट्रेलिया के साथ जैव सुरक्षित माहौल में श्रृंखलाओं का आयोजन किया.