Team CSK (Pic source: @CSK instagram)

आईपीएल का मौजूदा सीजन चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शुरुआत से ही अच्छा नहीं रहा है. टूर्नामेंट शुरू होने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स को जीत की राह नहीं मिल पा रही है. सीएसके अबतक 9 मैचों में से केवल तीन में जीत हासिल कर सकी है और आईपीएल प्वॉइंट टेबल में सातवें स्थान पर है. शनिवार को हुए मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने शारजाह में उन्हें छठा मैच हराया. इस तरह लगातार हार का सामना कर रही महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स के लिए इस साल प्लेऑफ का सफर आसान नहीं है.

फाफ डुप्लेसी के 47 गेंदों में 58 रन और अंपाती रायडू के 25 गेंदों में 45 रनों की बदौलत चेन्नई सुपर किंग्स 179 रन बना सकी. इसके जवाब में दिल्ली कैपिटल्स ने शिखर धवन के शतक और अक्षर पटेल के 5 गेंदों पर 21 रनों के सहारे पांच विकेट से मैच जीत लिया. इस जीत के साथ दिल्ली कैपिटल्स 14 अंकों के साथ टॉप पर पहुंच गई. हालांकि, अभी चेन्नई सुपर किंग्स प्लेऑफ की दौड़ से बाहर नहीं हुई है. वह अब भी टॉप 4 में आ सकती है.

कैसे क्वॉलिफाई कर सकती है चेन्नई 

चेन्नई सुपर किंग्स की फिलहाल 9 मैचों में 3 जीत हैं और वह 6 अंक के साथ सातवें स्थान पर है. यदि वह अगले पांच मैचों को मस्ट विन की तरह लेते हैं और हर मैच में उन्हें जीत मिलती है तो उनके 16 अंक हो जाएंगे. ये अंक प्लेऑफ में पहुंचने के लिए काफी होंगे. चेन्नई सुपर किंग्स को अपना अगला कोई भी मैच नहीं हारना है.

सीएसके के पास हार के बाद भी प्लेऑफ में पहुंचने के होंगे चांस

फिर भी यदि चेन्नई सुपर किंग्स एक मैच हार जाती है तो भी उनके प्लेऑफ में पहुंचने के चांस होंगे. ऐसे में उन्हें दूसरी टीमों की परफॉर्मेंस पर निर्भर रहना होगा. यदि सीएसके के 14 मुकाबलों में 14 प्वॉइंट हो जाते हैं तो रन रेट देखी जाएगी. पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद 12 अंकों के बावजूद प्लेऑफ में पहुंची थी. लिहाजा चेन्नई अभी प्लेऑफ की दौड़ से बाहर नहीं हुई है.