Rahul Tewatia during match against KX1P in IPL 2020 (Pic source: @RR instagram)

27 वर्षीय राहुल तेवतिया को आमतौर पर एक लेग स्पिनर के रूप में जाना जाता है लेकिन रविवार रात किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ वह एक अलग ही रूप में मैदान पर उतरे, जब उन्होंने 31 गेंदों पर 53 रनों की विस्फोटक पारी खेलकर राजस्थान को ऐतिहासिक जीत दिला दी. तेवतिया ने नंबर-4 पर बल्लेबाजी करते हुए सात छक्के लगाए.

तेवतिया उस समय आउट हुए जब राजस्थान को जीत के लिए केवल दो ही रन बनाने थे और अपनी इस पारी के बाद उन्होंने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा. तेवतिया की इस असाधारण बल्लेबाजी का जश्न न केवल राजस्थान रॉयल्स के ड्रेसिंग रूम में मनाया गया बल्कि शारजाह से तकरीबन सवा दो हजार किलोमीटर दूर उनके गांव सिही में भी खूब जश्न मनाया गया. बेटे की इस शानदार और साहसिक पारी के लिए उनके कृष्ण पाल को खूब बधाईयां मिल रही हैं.

राहुल तेवतिया के पिता कृष्ण पाल तेवतिया ने कहा, “राहुल न केवल मेरे बेटे हैं बल्कि गांव के बेटे हैं. रविवार को मैं कई लोगों से मिला और कई सारे लोगों से फोन पर बात किया. इससे मुझे सिरदर्द होने लगा. मैं करीब 400 लोगों से मिला, जो मेरे घर आए थे और मैंने हजारों लोगों से फोन पर बात की. सभी राहुल के प्रदर्शन को लेकर मुझे बधाई दे रहे थे. मैं बहुत खुश हूं.”

तेवतिया ग्रुप स्तर पर और रणजी ट्रॉफी में हरियाणा का प्रतिनिधित्व करने के अलावा आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली कैपिटल्स के लिए भी खेल चुके हैं. वह राजस्थान रॉयल्स के लिए दूसरी बार खेल रहे हैं.