PCB asked players and staff members to pay for covid-19 test (pic source: PCB instagram)

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी ने एक बड़ा ही हैरान करने वाला फैसला लिया है. पाकिस्तान में इस महीने के आखिर में नेशनल टी20 चैंपियनशिप की शुरुआत हो रही है. इस टी20 चैंपियनशिप में खेलने वाले खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और इससे जुड़े लोगों के कोविड 19 टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना होगा. हैरान करने वाली बात ये है कि पीसीबी ने 240 खिलाड़ियों, मैच अधिकारी और क्रिकेट से जुड़े लोगों से कोरोना टेस्ट के पैसे देने को कहा है.

कोरोना टेस्ट के लिए खिलाड़ियों-अधिकारियों को देना होगा खर्च

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने रावलपिंडी और मुल्तान में 30 सितंबर से शुरू होने वाले टूर्नामेंट में खेलने से पहले दो नेगेटिव कोविड-19 टेस्ट के बाद नेशनल इवेंट में उपस्थित होने वाले सभी को अनिवार्य कर दिया है. इसको लेकर पीसीबी ने कहा कि वह दूसरे कोविड-19 टेस्ट के लिए भुगतान करेगा, जबकि पहले कोरोना टेस्ट का भुगतान खुद खिलाड़ियों और अधिकारियों को करना होगा. पीसीबी से जुड़े सूत्र ने कहा, “खिलाड़ियों, अधिकारियों और हितधारकों का प्रारंभिक टेस्ट के लिए खुद से भुगतान करना होगा.”

पीसीबी ने क्रिकेट से जुड़े 240 लोगों से मांगे पैसे

पीसीबी ने किसी भी प्रयोगशाला या अस्पताल को निर्दिष्ट नहीं किया है जहां से खिलाड़ियों, अधिकारियों और हितधारकों को अपने प्रारंभिक टेस्ट करने होंगे. बोर्ड ने अपने खिलाड़ियों को अपने प्रबंधक या कोच को प्रारंभिक कोविड -19 रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है. नेशनल टी20 चैंपियनशिप के बाद पाकिस्तान सुपर लीग यानी पीएसएल के बाकी बचे मैच होने हैं तो क्या पीसीबी विदेशी खिलाड़ियों से भी कोरोना टेस्ट की फीस का भुगतान कराएगी?

सूत्र ने कहा कि बोर्ड ने टूर्नामेंट को सुचारू रूप से सुनिश्चित करने के लिए दोनों स्थानों पर पहले से ही व्यापक जैव-सुरक्षित वातावरण बनाना शुरू कर दिया है. बता दें कि जब पाकिस्तान की टीम लगभग 42 लोगों के साथ इंग्लैंड दौरे पर गई थी, तब बोर्ड ने सभी कोविड-19 टेस्ट के लिए भुगतान किया था.