BCCI had banned Sreesanth for life in August 2013 for his involvement in spot fixing scandal (pic source: Sreesanth instagram)

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत पर सात साल का प्रतिबंध खत्म हो चुका है. इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान 2013 में उनके उपर फिक्सिंग का आरोप लगने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने यह प्रतिबंध लगाया था. श्रीसंत आरोपों से बरी हो गए थे और अब उनपर लगा प्रतिबंध भी समाप्त हो गया है. उनका लक्ष्य भारतीय टीम में वापसी करने का है और इसके लिए वह पहले क्लब क्रिकेट खेलना चाहते हैं.

जल्द मैदान पर वापसी करने को बेताब श्रीसंत

प्रतिबंध हटने के बाद उन्होंने घोषणा की थी कि अब वह आजाद हैं और जल्दी ही मैदान पर वापसी करना चाहते हैं. श्रीसंत हर हाल में मैदान पर वापसी करना चाहते हैं. उन्होंने हाल ही में मैच खेलने पर अपना इरादा जाहिर किया. श्री का कहना था, “मुझे कॉल कीजिए और मैं आ जाउंगा, मैं कहीं भी क्रिकेट खेलने को तैयार हूं.”

श्रीसंत 2007 टी20 WC और 2011 WC टीम का हिस्सा थे

साल 2007 में टी20 विश्व कप और फिर 2011 में श्रीसंत वनडे विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा थे. भारत की तरफ से श्रीसंत ने कुल 27 टेस्ट और 53 वनडे मैच खेले हैं जबकि 10 टी20 इंटरनेशनल में वह टीम इंडिया की तरफ से मैदान पर उतर चुके हैं. टेस्ट में 87, वनडे में 75 और टी20 में श्रीसंत के नाम 7 विकेट हैं

2023 विश्व कप खेलना श्रीसंत का लक्ष्य

श्रीसंत ने कहा, “मैं ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और श्रीलंका में एजेंट से बात कर रहा हूं क्योंकि मैं इन देशों में क्लब स्तर पर क्रिकेट खेलना चाहता हूं. मेरा लक्ष्य साल 2023 में भारतीय टीम की तरफ से विश्व कप में खेलने का है. मेरी एक और ख्वाहिश है कि एक मैच मैं लॉड्स में खेलना चाहता हूं. एमसीसी जब रेस्ट ऑफ वर्ल्ड टीम के खिलाफ खेले तो उस मैच में शामिल रहूं.”